फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर के निर्देशक विजय गुट्टे क्यों किए गए गिरफ्तार!

136

मुंबई। अनुपम खेर की आने वाली फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर के निर्देशक विजय रत्नाकर गुट्टे को जीएसटी के मामले में धोखा-धड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है।

मुंबई में डायरेक्टर जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स इंटेलिजेंस (DGGSTI) ने विजय गुट्टे को 34 करोड़ की धोखा-धड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि उनकी कंपनी वीआरजी डिजिटल कॉर्प प्राइवेट लिमिटेड ने हॉरिजन आउटसोर्स सॉल्युशंस प्राइवेट लिमिटेड से एनीमेशन और मैनपावर सर्विस हासिल करने के लिए फर्जी इनवॉइस ली थी, जिसमें 34 करोड़ रुपए जीएसटी के शामिल थे।

हॉरिजन कंपनी 170 करोड़ रुपए से अधिक के जीएसटी फ्रॉड के लिए सरकारी रडार में थी। कोर्ट के दस्तावेजों के अनुसार, वीआरजी डिजिटर कॉर्प ने जुलाई 2017 से गलत तरीके से सेंटर वैल्यू एडेड टैक्स के अगेंस्ट 28 करोड़ रुपए के रिफंड का क्लेम सरकार से किया था। विजय गुट्टे को धारा सीजीएसटी एक्ट की धारा 132 (1)(c) के तह बुक किया गया है। गुटे ने अब तक बॉलीवुड में तीन फिल्में बनाई हैं और द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर के साथ अपना निर्देशन शुरू किया था।

उनके पिता रत्नाकर गुटे शुगर के बड़े कारोबारी हैं और उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में गंगाखेड से 2014 के विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए। कोर्ट ने विजय गुट्टे को 14 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में ऑर्थर रोड जेल भेज दिया है। उनकी गिरफ्तारी ऐसे समय में हुई है, जब उनके पिता की कुछ फर्मों के खिलाफ 5500 करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड के आरोप लगे हैं।